न.पा. सड़क सुधार के लिए ठेकेदार को करेगी 80 लाख का अतिरिक्त भुगतान,सीवर लाइन प्रोजेक्ट में तोड़ी गई थी 9 किलोमीटर सड़क


मुलताई – नगर पालिका द्वारा 5 करोड़ 57 लाख रुपए की लागत से बनने वाले सिविल लाइन प्रोजेक्ट में 9 किलोमीटर रोड क्षतिग्रस्त हुई है उसे सुधार कार्य प्रारंभ हो गया है किंतु जिन सड़कों का सुधार कार्य ठेका सर्तो में शामिल था किंतु अब सुधार कार्य प्रावधान के अलावा नगरपालिका ठेकेदार को 20 एमएम सुधार कार्य प्रोजेक्ट में शामिल कर 80 लाख रुपए का अतिरिक्त भुगतान करेगी।


नगर पालिका के उपयंत्री कहते हैं कि यह राशि स्वीकृत प्रोजेक्ट राशि में से  भुगतान की जाएगी किंतु सुधार कार्य में 10 एमएम के स्थान पर 20 एमएम का प्रावधान शामिल किया गया है। किंतु संपूर्ण मामले में  बड़ा प्रश्न यह है कि सीवर लाइन प्रोजेक्ट का कंसल्टेंसी लाखों रुपए लेकर डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट बनाती है तकनीकी स्वीकृति होती है प्रशासनिक स्वीकृति होती है तब नगर पालिका मुलताई में तीन उपयंत्री एक एई पदस्थ रहते हैं किंतु कोई भी यह देखना आवश्यक नहीं समझता कि जितने का प्रोजेक्ट नहीं है उससे ज्यादा कीमत की सड़कें जिस प्रोजेक्ट में तोड़ी जानी है उसमें सुधार का उचित प्रावधान है अथवा नहीं।

This image has an empty alt attribute; its file name is btl-21-4-22-341.jpg

सीवर लाइन प्रोजेक्ट के लिए जब करोड़ों रुपए लागत की सड़के तोड़ी जा रही थी तब भी कोई यह देखने आवश्यक नहीं समझता कि जब प्रोजेक्ट में 20 एमएम सुधार का प्रावधान ही नहीं है तो इन सड़कों को कैसे तोड़े। जानकार बताते हैं कि नगर के अनेक सड़कों को बचाया जा सकता था सीवर लाइन मार्ग के एक तरफ से डाली जा सकती थी किंतु मशीन की सहूलियत के चलते करोड़ों रुपए लागत की अनेक सड़कें भेंट चढ़कर रह गई और जब नगर की जनता आए दिन इन सड़कों के कारण दुर्घटनाग्रस्त होती है तो फिर नगर पालिका प्रोजेक्ट में 20 एमएम प्रावधान जोड़ने की बात करती है जिसमें अब रोड सुधार के नाम पर पूर्व प्रधान के अलावा 80 लाख का भुगतान नगरपालिका ठेकेदार को  करेगी।

This image has an empty alt attribute; its file name is btl-21-4-22-342.jpg

जिससे 3 वार्ड की 9 किलोमीटर टूटी हुई रोड का सुधार कार्य हो सकेगा। उपयंत्री पंकज धुर्वे कहते हैं कि डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट में कुछ अतिरिक्त आइटम जोड़े गए थे उसे हटा दिया गया है टूटे हुए रोड के सुधार कार्य के लिए जो अतिरिक्त 20 एमएम का प्रावधान शामिल किया गया है यह पूछे जाने पर कि क्या डीपीआर गलतियां थी तो इसके लिए दोषी कौन और इन गलतियों को पहले क्यों नहीं देखा गया वह कहते हैं डीपीआर हमारे समय में नहीं बना था इसलिए वह कुछ भी नहीं कह सकते।

इनका कहना

सीवर लाइन प्रोजेक्ट में 20 एमएम का प्रावधान शामिल किया गया है जिसके लिए प्रोजेक्ट प्रधान के अलावा ठेकेदार को रोड सुधार के लिए 80 लाख का भुगतान करना होगा।
पंकज धुर्वे उपयंत्री नगर पालिका मुलताई

—————————–+——————————-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here