चौथिया एवं ग्राम टेमझीरा के मतदान में धांधली को लेकर ग्रामीणों ने किया चक्का जाम,फर्जी मतदान की हो जांच फिर से कराएं मतगणना

मुलताई  त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में  धांधली का आरोप लगाते हुए ग्राम चौथिया एवं ग्राम टेमझीरा के ग्रामीणों ने सैकड़ों की संख्या में मुलताई पहुंचकर जमकर हंगामा किया।

तहसील कार्यालय में संबंधित अधिकारी उपस्थित न होने पर यह सभी ग्रामीण नगर के मध्य से गुजरने वाले मुख्य मार्ग पर पहुंचे जहां बस स्टैंड एवं ताप्ती प्रथम पुल के समक्ष चक्का जाम किया । मुख्य मार्ग पर लगभग 1 घंटे तक जमकर नारेबाजी की गई जिससे दोनों तरफ आवागमन बंद रहा। इसके उपरांत धरना प्रदर्शन पर पहुंचे एएसआई आर एस राजपूत ने किसी तरह ग्रामीणों को समझाकर मुख्य मार्ग से हटाकर तहसील कार्यालय ले गए। जहां ग्रामीणों ने प्रभारी तहसीलदार वीरेंद्र उइके को अपने शिकायती आवेदन पत्र सौंप कार्रवाई की मांग की।

प्रभारी तहसीलदार ने ग्रामीणों को नियमानुसार कार्रवाई का आश्वासन दिया। ग्राम पंचायत टेमझीरा के ग्रामीणों की मांग थी कि शुक्रवार को ग्राम टेमझीरा में हुए मतदान में ऐसे लोग ने भी मतदान किया है जो ग्राम में उपस्थित ही नहीं थे।  कुछ नाबालिग लोगों द्वारा भी फर्जी मतदान किया गया । ग्रामीणों ने शिकायत में बताया कि टेमझीरा पंचायत में 25 से 30 फर्जी मत डाले गए हैं। इसकी शिकायत पीठासीन अधिकारी से गई किंतु अधिकारी द्वारा ग्रामीणों की आपत्ती पर विंचार एवं कार्यवाही नहीं की गई। ग्राम पंचायत चौथिया के सरपंच पद की उम्मीदवार सुमन पति कैलाश ने ग्राम पंचायत चौथा में हुए मतदान के मतपत्रों की फिर से मतगणना किए जाने की मांग की।चौथिया के ग्रामीणों ने आवेदन में कहा गया कि मतदान दल ने रात में मतगणना की जब वर्षा हो रही थी और लाइट बार-बार बंद हो रही थी। हमारे पोलिंग एजन्टो को मत पत्रों की गणना के समय अंदर नहीं जाने दिया गया  जिससे हमें आशंका हैं मतपत्रों की सही तरह से जॉच नहीं हुई। मैं प्रत्याशी एवं ग्राम के मतदातागण मत पत्रो की जॉच एवं पुर्नमत॑गणना करवाना चाहते है।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here