अलसिया पारधी ने पूर्व मंत्री एवं जिला पंचायत अध्यक्ष के खिलाफ लगाया दबाव बनाने का आरोप

0
1726

बैतूल- 2007 में घटित बहुचर्चित पारधी  कांड को हुए 16 वर्ष गुजर गए हैं किंतु पारदी कांड का जीन्न  अबभी क्षेत्र की राजनीति पर मंडरा रहा है। जबकि इन 16 वर्षों में राजनीतिक परिदृश्य पूरी तरीके से बदल चुका है

हाल ही में मिली जानकारी के अनुसार इस मामले में ताजा अपडेट यह है कि  जिला पंचायत अध्यक्ष राजा पवार, पूर्व मंत्री एवं मुलताई विधायक सुखदेव पांसे सहित अन्य आरोपियों के खिलाफ  पारधी समुदाय की तरफ से फरियादी अलसिया पारधी ने अभियोजन साक्ष्य को गवाह बदलने का दबाव बनाने का आरोप लगाया है। उन्होंने बताया कि आरोपियों द्वारा सीबीआई कोर्ट में जमानत के लिए आवेदन दिया गया है। उन्होंने सीबीआई एसपी से जमानत निरस्त करने का आग्रह किया। फरियादी ने सीबीआई एसपी भोपाल को ज्ञापन प्रेषित कर प्रकरण की शीघ्र सुनवाई एवं साक्षियों को सुरक्षा प्रदान करने की भी मांग की है।

–ये है पूरा मामला–

प्रेषित ज्ञापन में अलसिया पारधी ने बताया कि वर्ष 2007 में ग्राम चौथिया में समुदाय के विरुद्ध आगजनी हत्या लूट की घटना कारित की गई थी। इस मामले में माननीय उच्च न्यायालय जबलपुर मध्य प्रदेश के आदेश के परिपालन में प्रकरण दर्ज कर मामला विशेष न्यायालय एसपी एमएलए भोपाल के समक्ष प्रस्तुत किया गया था, जिसका निवारण जारी है। उक्त प्रकरण में विधायक एवं पूर्व मंत्री सुखदेव पांसे, जिला पंचायत अध्यक्ष राजा पवार के साथ उमेश, संदीप, सुरेश, कचरू भी आरोपी है।

अलसिया पारधी ने आरोप लगाया कि इस प्रकरण में आरोपी अपनी राजनीतिक स्थिति का लाभ लेकर अभियोजन साक्ष्य गवाहों को बदलने का दबाव बना रहे हैं। गवाहों के विरुद्ध झूठे प्रकरण दर्ज करवा रहे हैं। आवेदक गण उक्त प्रकरण में किसी अप्रिय घटना होने के पूर्व अपनी न्यायालय में साक्ष्य देना चाहते हैं इसलिए प्रकरण में शीघ्र गवाही अंकित कराना बाकी है। अलसिया का कहना है कि इस मामले में साक्ष्यों को आरोपी गणों से खतरा बना हुआ है। पूर्व में उनके ऊपर जानलेवा हमला हो चुका है, इस विषय में अनेक बार शिकायत के बाद भी पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है, आरोपियों के खिलाफ गवाही ना देने का दबाव बनाया गया, इसलिए वह साक्ष्यों की सुरक्षा के लिए आवेदन प्रस्तुत कर रहे हैं।

———————————————————————————————————————————–


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here