गन्ना किसानों का कड़ाके की ठंड में रात भर प्रदर्शन,सुबह झुका मिल प्रशासन, किसानों को मिलेगा ₹315 प्रति क्विंटल

0
428

असलम अहमद

मुलताई-ताप्ती एग्रो इंडस्ट्रीज खजूरी शुगर मिल मालिक द्वारा किसानों को निर्धारित गन्ने का मूल्य नहीं दिए जाने से गुस्साए  गन्ना किसान बीती रात कड़ाके की ठंड के बावजूद पूरी रात  शुगर मिल के समक्ष अपना धरना प्रदर्शन करते रहे

और सुबह 100 से अधिक किसान अपने गन्ने से भरे ट्रैक्टर लेकर बैतूल जिला कलेक्टर कार्यालय जा रहे थे कि तभी गन्ना मिल मालिक ने किसानों की मांगों को कुछ हद तक मान लिया जिसके बाद किसानों ने अपना धरना प्रदर्शन स्थगित कर दिया है। राजेंद्र यदुवंशी एवं राजू यदुवंशी ने बताया कि हालांकि मिल मालिक अभी भी संपूर्ण प्रदेश में दी जाने वाली गन्ना खरीदी दर ₹320 प्रति क्विंटल देने को राजी नहीं हुआ है

किंतु 4 जनवरी से गन्ना किसानों को ₹315 प्रति क्विंटल मूल्य देने को राजी हुआ है और 20 जनवरी से ₹325 प्रति क्विंटल से किसानों को गन्ने का भुगतान किए जाने की बात कही है। मिल मालिक ने आश्वासन दिया है कि 1 फरवरी से किसानों को संपूर्ण प्रदेश के किसानों को मिलने वाले गन्ने के दामों के अनुसार ही भुगतान किया जाएगा।

राजेंद्र यदुवंशी ने बताया कि कांग्रेस जिला पंचायत सदस्य हितेश निरापुरे ने किसानों और मिल मालिक के बीच समझौता करा कर आंदोलन समाप्त कराया और उन्होंने जिला कलेक्टर से चर्चा कर ₹5 का अंतर शीघ्र समाप्त कर किसानों को ₹320 प्रति क्विंटल की दर से भुगतान किए जाने का भी कहा है।

किसानों के अधिकारों की बात आती है तो कहां गुम हो जाते हैं जनप्रतिनिधि

बीते 2 दिनों से सैकड़ों किसान कड़ाके की ठंड में अपने अधिकारों की लड़ाई लड़ रहे थे। किंतु जिला पंचायत सदस्य के अलावा कोई नेता धरना स्थल पर नहीं पहुंचा जिसको लेकर किसानों में रोष है। किसान बताते हैं कि जब भी राजनीति की बात आती है हर नेता अपने आप को किसानों का हितेषी बताता है किंतु जब किसानों का शोषण होता है उनके साथ खड़े होने वाला कोई भी नहीं रहता उन्हें अपनी लड़ाई खुद लड़नी पड़ती है और इसका उदाहरण बीते 1 सप्ताह से वाजिब दाम के लिए भटक रहे किसान और बीती रात कड़ाके की ठंड में बैठे रहे सैकड़ों किसान है।

——————————————————————————

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here