ग्रामीणों के खातों से गबन करने वाला कियोस्क संचालक गिरफ्तार,ढाई लाख की धोखाधड़ी अब तक आ चुकी सामने

0
547

संजय द्विवेदी 

बैतूल- ग्रामीणों द्वारा खुलवाए गए कियोस्क खातों में धोखाधड़ी कर लाखों रुपए का गबन करने वाले कियोस्क संचालक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इस संबंध में दर्जन भर ग्रामीण खाताधारकों ने शिकायत की थी। इनके खातों से ढाई लाख की गड़बड़ी सामने आ चुकी है।

कुल 521 खातों से रकम उड़ाई गई है। पूरी राशि का आंकड़ा जांच के बाद सामने आ सकेगा। एसपी सिमाला प्रसाद और एसडीओपी भैंसदेही शिवचरण बोहित ने प्रेस कांफ्रेंस में शुक्रवार को मामले का खुलासा किया। उन्होंने बताया कि बैंक मैनेजर के द्वारा 1 सितंबर 2022 को बैंक फ्रॉड के संबंध में कियोस्क खाते से राशि का गबन किए जाने की शिकायत प्राप्त हुई थी। इस पर थाना भैंसदेही स्तर पर टीम गठित की जाकर कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया गया। थाना भैंसदेही पुलिस द्वारा आरोपी रविन्द्र मसराम के विरुद्ध धारा 420 का अपराध पंजीबद्ध किया गया। वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन में और सायबर सेल की सहायता से आरोपी रविन्द्र मसराम को उसके निवास स्थान बैतूल से अभिरक्षा में लिया गया।आरोपी से अपराध के संबंध में पूछताछ की गई। आरोपी द्वारा बताया गया कि खाताधारक के फिंगर प्रिंट के साथ अपनी एक फिंगर का प्रिंट भी कियोस्क मशीन पर लेकर खाता खोलता था। जिससे खाताधारक का खाता स्वयं खाताधारक एवं आरोपी रविन्द्र मसराम के द्वारा कभी भी खोला जा सकता था।


इस प्रकार आरोपी द्वारा थाना भैंसदेही के अन्तर्गत कियोस्क खाताधारक के खाता पर राशि उपलब्ध होने पर उस राशि का आहरण अपनी फिंगर प्रिंट द्वारा किया जाता था।आरोपी द्वारा लगभग 2,50,000 रुपये की राशि का गबन किया गया है। बैंक के अधिकारी संतोष गजभिये और अरुण गोखले से पूछताछ करने पर उनके द्वारा लगभग 521 खाताधारक के साथ आरोपी रविन्द्र मसराम के द्वारा धोखाधड़ी कर राशि गबन करना बताया है। उपरोक्त 521 खाताधारक से संपर्क कर उनके खाते से आरोपी द्वारा कितनी राशि का आहरण कया गया है, इस संबंध में जानकारी प्राप्त की जायेगी। थाना भैंसदेही के अन्तर्गत प्राप्त 12 ग्रामीणों की शिकायत पर आरोपी द्वारा उनके कियोस्क खाता का अनाधिकृत रूप से धोखाधड़ी कर लाखों की राशि का गबन करने से आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। जिसे न्यायालय पेश किया जावेगा।  

आनलाइन फ्राड से बचने के लिए जागरुकता जरूरी: एसपी सिमाला प्रसाद

एसपी बैतूल सिमाला प्रसाद ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान पत्रकारों को बताया कि दिनों दिन बढ़ते आनलाइन फ्राड के मामलों को लेकर पुलिस विभाग द्वारा समय-समय पर जन जागरूकता के अभियान चलाये जाते है परंतु ऑनलाइन फ्राड से बचने के लिए लोगों में जागरुकता एवं सतर्कता का होना बहुत जरूरी है। खासकर देखा गया है कि ग्रामीण लोग अपने मोबाइल फोन पर बैंकिंग मैसेज ही नहीं चैक करते है और धोखधड़ी होने के कई दिनों बाद उन्हें इस बारे में पता चलता है जिससे पुलिस को धोखेबाज तक पहुंचना मुश्किल होता है। उन्होंने नागरिकों से अपील की है कि बैंकिंग मामलों में वह पूर्ण सावधानी बरतें, खासकर ग्रामीण क्षेत्रों में कोई भी व्यक्ति फोन पर किसी भी प्रकार की जानकारी शेयर ना करें। 


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here