मुलताई- उच्च न्यायालय जबलपुर के अधिवक्ता स्वर्गीय अनुराग साहू के साथ घटी घटना के विरोध में अभिभाषक संघ मुलताई ने मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन अनुविभागीय अधिकारी मुलताई को सौप अपना रोष व्यक्त किया ।

साथ ही अधिवक्ता संघ ने घटना के विरोध में सर्वसम्मति से निर्णय लेकर शनिवार को न्यायालय कार्य से विरत रहकर प्रतिवाद दिवस मनाया। अभिभाषक संघ ने इस घटना को अत्यधिक अवसाद ग्रस्त घटना बताते हुए अपने ज्ञापन में कहा है कि उच्च न्यायालय जबलपुर के सम्मानित अधिवक्ता अनुराग साहू के साथ दिनांक 30 मई को घटित अत्यधिक अवसाद ग्रस्त घटना से सभी अधिवक्ता गण दुखी एवं क्षुब्ध है। प्रदर्शन के दौरान पुलिस एवं शासन द्वारा की गई आक्रामकता का विरोध करते हैं।

इस घटना से अधिवक्ताओं में उपजे आक्रोश को देखते हुए अभिभाषक संघ मुलताई के सभी सदस्यों ने चर्चा कर निर्णय लिया है कि पुलिस एवं प्रशासन द्वारा की गई आक्रमकता  का विरोध करते हैं। अभिभाषक संघ के सभी सदस्यों ने सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया है कि उच्च न्यायालय जबलपुर के अधिवक्ताओं के साथ किए गए अभद्र व्यवहार के विरोध में शनिवार को राज्य अधिवक्ता परिषद जबलपुर के निर्देश अनुसार प्रतिवाद दिवस के रूप में मनाते हुए ली गई बैठक में अधिवक्ता संघ द्वारा लिए गए निर्णय  अनुसार

अधिवक्ता साथियों के साथ हुई उक्त अभद्र व्यवहार एवं पुलिस प्रशासन द्वारा की गई कार्यवाही की उच्च स्तरीय जांच एस0आईए0टी0 से कराये जाकर दोषी पुलिस अधिकारी व कर्मचारीयों के विरूद्ध उचित कानूनी दण्डात्मक कार्यवाही किये जाने की मांग करते है।जापान सौंपने वालों में अभिभाषक संघ अध्यक्ष सीएस चंदेल ,अधिवक्ता विशाल कोडले, अधिवक्ता प्रवीण माने, सरवन नागले ,अधिवक्ता अनिल शर्मा, अशोक परिहार, लोकेश यादव ,तकी उल हसन रिजवी,राजेश साबले, प्रमोद कोसे, दिनेश सिमैया, चेतराम वानखेडे, विजय रघुवंशी आदि प्रमुख है।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here