जादू नहीं विज्ञान है, समझना समझाना आसान है,चमत्कार के पीछे होता है वैज्ञानिक कारण

0
510

मुलताई- अंधविश्वास समाज की सबसे बड़ी समस्या है आज भी समाज का एक वर्ग अंधविश्वास और ढोंगी बाबाओं के छोटे-छोटे वैज्ञानिक प्रयोग को चमत्कार मानकर अपना सब कुछ गवा लेता हैं।

उक्त बात जादू नहीं विज्ञान है समझना समझाना आसान है कि प्रशिक्षक आरके मालवीय ने जिला स्तरीय ऑनलाइन प्रशिक्षण के दौरान कहीं। जादू नहीं विज्ञान है का प्रशिक्षण शिक्षकों को दिया गया ताकि वह विज्ञान, जादू और चमत्कार के भेद को समझ सके और छात्र-छात्राओं को भी इस से रूबरू करा सके। नगर के उत्कृष्ट विद्यालय में जादू नहीं विज्ञान है, समझना समझाना आसान है, का जिला स्तरीय शिक्षकों को ऑनलाइन प्रशिक्षण दिया गया ।

प्रशिक्षण देने में मुख्य रूप से योगदान आरके मालवीय उप प्राचार्य, सचिन नाडेकर, ब्रजमोहन अग्रवाल ,रामप्रसाद सूर्यवंशी, विनायक नागले, दिनेश मगरदे, संदीप तारे का रहा ।यह प्रशिक्षण सीएम राइज शासकीय उत्कृष्ट स्कूल मुलताई से किया गया, जिसमें प्राचार्य संदीप गणेशे भी उपस्थित रहे ।बच्चों में विज्ञान के प्रति जागरूकता उत्पन्न करना और समाज में व्याप्त अंधविश्वास को समाप्त करना

 इस प्रशिक्षण का मुख्य उद्देश्य है। दुनिया में होने वाले प्रत्येक चमत्कार के पीछे कोई ना कोई वैज्ञानिक कारण होता है। आज पानी में आग लगाना ,पानी से हवन वेदी में आग जलाना ,भूत उतारना, फोटो से लगातार भभूत गिराना, नींबू से खून निकालना, हथेली पर कपूर जलाना, अंगारों पर चलना और भूमि में समाधि लेने के पीछे का विज्ञान और मानव के कंकाल को पानी पिलाना आदि

चमत्कारों को प्रैक्टिकल रूप से दिखाया गया और इसके पीछे के वैज्ञानिक कारण को समझाया गया ।16  तारीख को विकासखंड स्तरीय विज्ञान मेला का आयोजन होगा और 18 तारीख को जिला स्तरीय जादू नहीं विज्ञान है के तहत विज्ञान मेला का आयोजन किया जाएगा। प्रशिक्षण में जिला शिक्षा अधिकारी अनिल कुशवाहा  और संजीव श्रीवास्तव एडीपीसी ने सभी स्कूलों को कहा कि इसका प्रदर्शन स्कूल में अनिवार्य रूप से करा जाए ताकि समाज से अंधविश्वास का उन्मूलन हो सके।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here