नगर पालिका अध्यक्ष एवं पार्षदों ने फिर की सीएमओ की शिकायत एसडीओ पुलिस एवं एसडीएम को सौंपा ज्ञापन

0
267

गनमैन लेकर नगरपालिका पहुंचे सीएमओ

मुलताई- मुख्य नगरपालिका अधिकारी नितिन बिजवे एवं परिषद के बीच का विवाद समाप्त होने का नाम नहीं ले रहा है। गुरुवार को नगर पालिका अध्यक्ष नीतू प्रह्लाद एवं पार्षदों ने एसडीओ पुलिस एवं अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को शिकायत कर सीएमओ के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की। 


बुधवार को नितिन कुमार बिजवे ने  थाना मुलताई में अपने आप को असुरक्षित बताते हुए गनमैन रखने की जानकारी एवं परिषद अध्यक्ष सहित पार्षदों से अपने आप को खतरा बताते हुए शिकायत थाना मुलताई में की थी ।आज  नगरपालिका के इतिहास का अनोखा दिन था पहली बार कोई नगर पालिका अधिकारी अपने गनमैन के साथ नगरपालिका पहुंचे थे ।इसके जवाब में आज नगर पालिका अध्यक्ष नीतू प्रह्लाद परमार एवं सभापति पार्षद अपने विरुद्ध की गई शिकायत के विरोध में गुरुवार को एसडीओ पुलिस एव अनुविभागीय अधिकारी से मिले और उन्हें ज्ञापन सौप नगर पालिका अधिकारी के आरोपों को निराधार बताते हुए सीएमओ के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की है।

एसडीओ पुलिस एवं एसडीएम को सौंपा इस ज्ञापन में कहा गया है की किन-किन मदों में कितनी-कितनी राशि प्राप्त हुई है प्राप्त राशि से कौन-कौन सी सामग्री क्रय की गई है एवं कौन-कौन से कार्य कराये जाने से सम्बंधित जानकारी प्रेसिडेंट-इन-कौंसिल की बैठक के समक्ष प्रस्तुत करने हेतु  नितीन कुमार बिजवे, सी.एम.ओ. नगर पालिका मुलताई को अध्यक्ष, नगर पालिका एवंप्रेसिडेंट-इन-कौंसिल के सदस्यों द्वारा पत्र दिया गया था जिसकी छायाप्रति संलग्न है ।अध्यक्ष एवं पी.आई.सी. सदस्यों के उक्त पत्र के सम्बंध में पी.आई.सी. की बैठक आमंत्रित न करते हुये म.प्र.नगरपालिका अधिनियम 967 की धारा 5! एवं 93 का गलत आशय लेकर पी.आई.सी. की बैठक बुलाने एवं जानकारी देने से इंकार कर दिया जबकि मांगी गई जानकारी व्यापक लोकहित में है ।   सी.एम.ओ.  नितीन कुमार बिजवे की विवादास्पद कार्यप्रणाली एवं महिला सभापतियों के साथ जो अभद्रता की जाती है उसके सम्बंध में प्रशासनिक अधिकारियों एवं  इंदरसिंह परमार प्रभारी मंत्री जिला बैतूल से शिकायत की गई है

नितीन कुमार बिजवे सी.एम.ओ. द्वारा दिनांक 02–2022 को थाना मुलताई में की गई शिकायत में आरोप लगाया गया कि अध्यक्ष के चैम्बर में लगे सी.सी.टी.व्ही. कैमरे को हटा दिया गया है, यह कथन असत्य है । जब अध्यक्ष द्वारा पदभार ग्रहण किया गया उस समय अध्यक्ष कक्ष कैमरे नहीं लगे थे । परंतु उक्त सम्बंध में शासन के ऐसे कोई दिशा-निर्देश नहीं है कि शासकीय कार्यालय के प्रत्येक कक्ष में सी.सी. टी.व्ही. कैमरे लगाकर कर्मचारियों की निगरानी करना है । ऐसे भी कोई निर्देशनहीं है कि अध्यक्ष के चैम्बर में भी सी.सी. टी.व्ही. कैमरे लगाकर निगरानी की जावे । वास्तव में तो सी.सी.टी.व्ही. कैमरे सुरक्षा की दृष्टि से लगाये जाते है ना कि कर्मचारी, अध्यक्ष एवं जन-प्रतिनिधियों की निगरानी के लिये  प्राप्त जानकारी के अनुसार यह भी उल्लेखनीय है कि सी.सी.टी.व्ही. कैमरों में आडियों इनएबल कर वीडियो के साथ बातचीत भी रिकार्ड की जाती है यह नागरिकों की प्राईवेसी का उल्लंघन है । निवेदन है कि नगरपालिका के सी.सी.टी.व्ही.के विगत एक माह के विडियो फुटेज दिखाये जाने हेतु मुख्य नगर पालिका अधिकारी को आदेशित करे सी.एम.ओ. कक्ष में एक अतिरिक्त केबिन बनाया है जिसके दरवाजे में वन विजन कांच लगाए गए हैं यह,समझ में नहीं आता  कि एक शासकीय कार्यालय में वन-वे विजन काँय लगाने का कया औचित्य यह कार्य प्रणाली संदेहास्पद है, इसकी भी जाँच की जानी चाहिये । ज्ञापन सौंपने वालों में नगर पालिका अध्यक्ष नीतू प्रह्लाद परमार पंडित शिवकुमार माहोरे, पार्षद अंजली शिवहरे ,पार्षद निर्मला रामाउबनारे, पार्षद साजिदा जाकिर , पार्षद सुरेश पौनीकर, पंजाब चिकाने आदि प्रमुख है।

इनका कहना
जो  आरोप-प्रत्यारोप मुझ पर लग रहे हैं वह एक सामान्य बात है वह जांच का विषय है किंतु आशंकाओं को देखते हुए इसकी सूचना मैंने थाने में दी है और सुरक्षा की दृष्टि से गनमैन रखा है।
नितिन कुमार बिजवे मुख्य नगरपालिका अधिकारी मुलताई

मुमुलताई

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here