नफ़रत छोड़ो, संविधान बचाओ  पदयात्रा का किसान स्तंभ पर समापन, 5 दिन में 30 गांव 90 किलोमीटर  सफर किया तय

0
141

मुलताई – किसान संघर्ष समिति द्वारा पूर्व विधायक डॉ सुनीलम की अगुवाई में आयोजित “नफरत छोड़ो, संविधान बचाओ” पदयात्रा  आज पांचवे दिन मुलतापी किसान स्तंभ पर समापन हुआ। पदयात्रियों ने रोजाना 13 घंटे चलकर 5 दिन की पदयात्रा के दौरान 30 गांव का 90 किलोमीटर का दौरा किया।

पदयात्रा के समापन के अवसर पर बोलते हुए डॉ सुनीलम ने कहा कि 2 अक्टूबर से 10 दिसंबर के बीच होने वाली 75 किलोमीटर की पदयात्रा का समापन हरियाणा के फरीदाबाद जिले के खोरी गांव में 10 दिसंबर को होगा। डॉ सुनीलम ने कहा कि पहली बार मुलताई में नफरत और घृणा के खिलाफ संवैधानिक अधिकार नागरिकों को दिलाने के लिए किसी भी संगठन द्वारा पदयात्रा की गई है। उन्होंने कहा कि “नफरत छोड़ो, संविधान बचाओ अभियान” के दूसरे चरण  की शुरुआत 26 जनवरी को पलवल से होगी जिसका समापन 30 जनवरी को जंतर-मंतर तक होगा। इसमें गांधीजी के प्रपौत्र तुषार गांधी, सामाजिक कार्यकर्ता मेधा पाटकर और किसान नेता राकेश टिकैत शामिल होंगे।

डॉ सुनीलम ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से गोभी उत्पादक किसानों को विशेष पैकेज देने की मांग करते हुए कहा कि शहरों में 40 से 60 रूपये किलो तक बिकने वाली पत्ता गोभी को किसान 3 दिन पहले 2 रूपये किलो में बेचने को मजबूर थे लेकिन आज कोई भी व्यापारी 30 पैसे प्रति किलो भी खरीदने को तैयार नहीं है। डॉ सुनीलम ने मुख्यमंत्री से प्याज की 8 रूपये किलो पर खरीद की जाने की तर्ज पर 10 रूपये किलो की दर पर पत्ता गोभी खरीद का विशेष पैकेज देने की मांग की।

डॉ सुनीलम ने मुलताई क्षेत्र में जनप्रतिनिधियों से कहा कि वे किसानों, मजदूरों, महिलाओं, युवाओं और छात्रों की समस्याओं को हल कराने के लिए संघर्ष का रास्ता अपनाएं। दलालों और दलाली से दूर रहे । सुनीलम ने कहा कि उन्होंने 30 गांवों में जाकर समस्याएं देखी है उनके निराकरण के लिए किसान संघर्ष समिति द्वारा सतत प्रयास किया जाएगा तथा मुख्यमंत्री को ज्ञापन देकर तुरंत कार्यवाही की मांग की जाएगी। पदयात्रा में यशोदाबाई सिमैया, देवकी डडोरे, शारदा राऊत, ललिता पठाड़े, लल्ली पंवार, गीता हारोड़े, दुलारी पवार, कमल पवार, मनु पंवार,  कृपाल सिंह सिसोदिया, शत्रुघ्न यादव, हेमराज देशमुख, सहदेव मंडलेकर, चैनसिंह सिसोदिया, अकलेश पठाड़े, लक्ष्मण बोरबन, डमरु महाजन, रामदयाल चौरे, तीरथ सिंह बलिहार, मारोती पवार, अनिल धोटे, सीताराम नरवरे, गुड्डू सूर्यवंशी  एवं भागवत परिहार आदि शामिल रहे।

————————————————————————————————————–


  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here