Multai पत्ता गोभी मुआवजे एवं बिजली समस्या को लेकर सड़कों पर उतरे कांग्रेसी, सड़कों पर गोभी फेंक कर जताया विरोध

0
552

मुलताई- मुलताई पूर्व मंत्री एवं कांग्रेस विधायक सुखदेव पांसे के नेतृत्व में सैकड़ों किसानों ने पत्ता गोभी मुआवजा एवं 10 घंटे बिजली दिए जाने की मांग को लेकर जमकर विरोध प्रदर्शन किया।

किसानों ने पत्ता गोभी और टमाटर को सड़कों पर फेंक कर अपना विरोध जताया। फवारा चौक पर धरना प्रदर्शन के बाद सड़कों पर निकले कांग्रेसियों ने जमके नारेबाजी की एवं तहसील परिसर पहुंचकर मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन एसडीएम को सौंपा। सुखदेव पांसे ने सभा को संबोधित करते हुए भाजपा सरकार को किसान विरोधी सरकार बताया वही पांसे ने विद्युत अधिकारियों को 3 दिन में विद्युत व्यवस्था ठीक करने का कहा है। 

एक दिवसीय धरना प्रदर्शन कर अपना विरोध जताया। सुखदेव पांसे सहित कांग्रेसी नेता भाजपा सरकार पर जमकर बरसे उसके उपरांत मुख्यमंत्री के नाम 6 सूत्री ज्ञापन एसडीएम को सौंपा गया एवं तत्काल किसानों की समस्या के समाधान की मांग की है अन्यथा उग्र आंदोलन की चेतावनी दी। विधायक सुखदेव पांसे ने अनुविभागीय अधिकारी राजस्व राजनंदनी शर्मा को 6 सूत्री मांग पत्र सौपते हुए कहा कि आज किसान कठिन दौर से गुजर रहा है, उन्हें तत्काल मुआवजा दिया जाना चाहिए और जो फसलें अतिवृष्टि से नुकसान हुई है। उसका भी तत्काल मुआवजा किसानों को मिलना चाहिए। विधायक ने विद्युत विभाग के अधिकारियों से कहा कि 3 दिन में विद्युत की व्यवस्था में सुधार करें। फवारा चौक में आयोजित प्रदर्शन में बड़ी संख्या में किसान अपनी गोभी की फसल लेकर पहुंचे थे। फवारा चौक से रैली की शक्ल में कांग्रेस नेता एवं किसान जय स्तंभ चौक, बस स्टैंड होते हुए तहसील परिसर पहुंचे और किसानों ने लगभग 2 ट्रक से अधिक अपनी गोभी की फसल रोड पर फेंक कर जगह-जगह अपना विरोध प्रदर्शन किया।

पत्ता गोभी का नहीं मिल रहा दाम रोटावेटर चला रहा किसान

तहसील के किसान अत्यंत परेशान है, रबी सीजन में जहाँ अतिवृष्टि से उनकी फसले बर्बाद हो गई थी। वहीं वर्तमान मे सब्जी उत्पादक कृषकों की पत्तागोभी खरीदने वाला कोई नही है। परिणाम स्वरूप उन्हें बड़ी मेहनत से पाली गई फसल पर रोटावेटर चलाना पड़ रहा है। जिससे वे खून के आंसु रोने पर मजबूर है। मुलताई तहसील में देशभर में सबसे ज्यादा पत्तागोभी का उत्पादन होता है। हजारों की संख्या में लोग लाखों एकड़ में इसका उत्पादन करते हैं किन्तु वर्तमान समय में कृषकों को इसके खरीददार नही मिल रहे हैं। जिसके कारण उन्हें खड़ी फसल पर रोटावेटर चलाकर नष्ट करना पड़ रहा है। एक एकड़ पत्तागोभी की लागत 60 हजार रूपये आती है।पत्तागोभी उत्पादक कृषकों को थोड़ी राहत देते हुये 40 हजार रूपये प्रति एकड़ तुरंत मुआवजा दिया जाए।

किसानों को मिले 10 घंटे दिन में बिजली

रबी फसल की सिंचाई के लिए म.प्र. सरकार की घोषणा के अनुरूप 10 घंटे किसानों को दिन में बिजली उपलब्ध कराई जाए। ट्रांसफार्मर फेल होने पर अधिकतम 3 दिवस के भीतर दूसरा ट्रांसफार्मर लगाया जाए। कई कृषक वोल्टेज की समस्या से परेशान है। ट्रांसफार्मरों पर क्षमता से अधिक भार है उनकी क्षमता वृद्धि की जाए या फिर जहां पर ज्यादा अस्थाई कनेक्शन होते है, वहां अतिरिक्त ट्रांसफार्मर लगाया जाए। पिछले खरीफ सीजन में अतिवृष्टि से सोयाबीन सहित अन्य फसलों का कृषकों को जो नुकसान हुआ है उसका मुआवजा तथा फसल बीमा की राशि कृषकों को अविलंब रूप से प्रदान की जाए। आंदोलन में भाग लेने वालों में पूर्व विधायक डॉ पंजाबराव बोडखे, प्रदेश कांग्रेस कमेटी सदस्य संजय यादव, ब्लॉक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष किशोर परिहार, जनपद विधायक प्रतिनिधि ताकि उल हसन रिजवी, सुमित शिवहरे ,वरिष्ठ महिला कांग्रेसी नेता राजरानी परिहार ,कमल सोनी, बंधु बारंगे ,बल्लू बारंगे, बाबा राव ठाकरे आदि प्रमुख है।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here