फ्रेट कॉरिडोर का हवाई सर्वे Betul,Multai और शाहपुर तहसील के गांव से गुजरेगी रेलवे लाइन

0
1138

बैतूल – उत्तर से दक्षिण को जोड़ने के लिए रेलवे द्वारा डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर बनाने के लिए सेटेलाइट सर्वे पूरा करने के बाद अब हवाई सर्वे किया जा रहा है। हवाई सर्वे करने के लिए हैदराबाद से आज सर्वे टीम हेलीकॉप्टर से बैतूल पहुंची। पुलिस परेड मैदान पर स्थित हेलीपैड पर हेलीकॉप्टर उतारा गया और उसके बाद इंजीनियरों की टीम ने कुछ देर उपरांत पुन: उड़ान भरी। इस तरह से उन्होंने हवाई सर्वे का कार्य किया। इसके बाद टीम इटारसी के लिए रवाना हो गई।

975 किमी. लंबा बनना है फ्रेट कॉरिडोर

इटारसी से लेकर विजयवाड़ा तक बनने वाला डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर कारपोरेशन यह फ्रेट कॉरिडोर तैयार करा रहा है। इसको लेकर पूर्व में ही सैटलाइट सर्वे का कार्य जहां पूर्ण कर लिया गया था वहीं अब हवाई सर्वे किया जा रहा है। यह कॉरिडोर करीब 975 किलोमीटर उत्तर को दक्षिण से जोड़ने के लिए बनाया जा रहा है।

बैतूल से इटारसी तक किया हवाई सर्वे

साइड इंचार्ज इंजीनियर दिव्यांशु कश्यप ने बताया कि-आज आरबी एसोसिएट कंसल्टेंसी एण्ड आर्किटेक्ट हैदराबाद की कंपनी जो कि फ्रेट कॉरिडोर का काम कर रही है उसके सर्वे स्पेशलिस्ट हेलीकॉप्टर से हैदराबाद से बैतूल आए थे। बैतूल में प्यूल लेने के लिए हेलीकॉप्टर रुका था। इसके अलावा बैतूल से इटारसी तक का हवाई सर्वे किया जाएगा। इसके बाद सर्वे स्पेशलिस्ट हैदराबाद वापस चले जाएंगे। हेलीकॉप्टर में उनके अलावा दो पायलट थे।

क्या है फ्रेट कॉरिडोर का उद्देश्य

वर्तमान में रेलवे की दो लाइन होने की वजह से एक पर जहां यात्री ट्रेनें निकलती है वहीं दूसरी लाइन पर मालगाड़ी को निकाला जाता है। इस वजह से माल गाडिय़ां काफी विलंब से चलती है जिससे माल की डिलेवरी में भी अत्यधिक समय लगता है। इस समस्या से निजात पाने और ट्रांसपोर्टिंग को बढ़ावा देने के लिए रेलवे द्वारा फ्रेट कोरिडोर का निर्माण कराया जाएगा ताकि निर्बाध रूप से मालवाहक गाडिय़ां चल सके।

हैदराबाद की कंपनी को मिला ठेका

कश्यप ने बताया कि इटारसी-विजयवाड़ा फ्रेट कॉरिडोर के हवाई सर्वे का काम हैदराबाद की कंपनी को दिया गया है। इसी के तहत हैदराबाद से सर्वे स्पेशलिस्ट सहित दो पायलट हेलीकॉप्टर से बैतूल पहुंचे और यहां पर पहुंचकर उन्होंने हवाई सर्वे किया। इस दौरान अधिकारियों ने चर्चा में बताया कि हवाई सर्वे पूर्ण होने के बाद जमीन का अधिग्रहण करने की कार्यवाही रेलवे द्वारा की जाएगी।

कहा-कहा से होकर गुजरेगा फ्रेट कॉरिडोर

विजयवाड़ा से इटारसी के बीच तैयार किए जा रहे फ्रेट कॉरिडोर में शाहपुर, बैतूल और मुलताई तहसील के गांव शामिल हो रहे हैं। शाहपुर तहसील के गुरगुंदा, भौरा, कुंडी, वंका खोदरी, चापड़ामाल, चिखलदा खुर्द, पाठई, वनग्राम, निशानरैय्यत, मोतढाना, फ्लासपानी, जामपानी, बरैठा, मोखामाल, हरदू, माली सिलपटी, देशावाड़ी, सितलझिरी आदि गांव शामिल हो रहे हैं।बैतूल तहसील के गजपुर, माथनी, मंडईखुर्द, मंडई बुजुर्ग, बोरगांव, वयावाड़ी, झाड़ेगांव, पांगरा, भडूस, परसेड़ा, थनौरा, भांगीतेड़ा, बड़ौरा, भरकवाड़ी, बैतूलबाजार, हनोतिया, सिगनवाड़ी, चकोरा, वाजपुर, कलापुर, मलकापुर, किल्लीट, रतनपुर, वागदा, वरसाली, लाखापुर, मोरडोंगरी, ठानी रैय्यत, ठानी माल आदि गांव शामिल हो रहे हैं। इसके अलावा आसपास के कई दर्जन गांव से भी यह रेलवे लाइन बिछाई जाएगी।

खबर वाणी के साभार


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here