मिनी स्टेडियम की फेंसिंग तोड़ने वाले ठेकेदार से होगी वसूली- नीतू परमार,सीएम राइज प्राचार्य भी कर रहे हैं कार्रवाई

0
1019

मुलताई- मिनी स्टेडियम पर कब्जा करने वाले ठेकेदार से तोड़ी गई फेंसिंग की राशि की वसूली की जाएगी साथ ही ठेकेदार द्वारा मिनी स्टेडियम में जो भी अव्यवस्था फैलाई गई है उसे सुधार कार्य कराया जाएगा।

उक्त बात मुख्य नगर पालिका अध्यक्ष नीतू प्रह्लाद परमार ने कही है उन्होंने कहा कि नगर पालिका करोड़ों की लागत से बने मिनी स्टेडियम को किराए से देने का अधिकार नहीं है यह कैसे दिया  गया नगरपालिका में इसकी रसीद कौन काट रहा था यह पैसा किस मद में जमा हो रहा था इसका पता लगाने का कहा गया है। साथ ही संबंधित बाबू एवं नगर पालिका इंजीनियर को मिनी स्टेडियम पर पहुंचकर पंचनामा एवं नुकसान के मूल्यांकन का कहां गया है ताकि ठेकेदार से नुकसान की भरपाई कराई जा सके। नगर पालिका अध्यक्ष नीतू परमार  माना कि मिनी स्टेडियम का उपयोग खेल के अलावा किसी अन्य कार्य के लिए नहीं किया जाना चाहिए ।

उन्होंने कहा कि ठेकेदार को इस संबंध नगरपालिका पत्र भी लिख रही है। उल्लेखनीय है कि नगर पालिका द्वारा नगर के सीवर लाइन प्रोजेक्ट का ठेका सार्थी कंस्ट्रक्शन को दिया गया है ठेकेदार द्वारा मिनी स्टेडियम के खिलाड़ियों के लिए बने कमरों एवं रिक्त स्थान पर कब्जा कर रखा है जिस पर ठेकेदार का मटेरियल लेबर की झोपड़ियां, वाहन एवं मटेरियल डालकर मिनी स्टेडियम की हालत खराब कर रखी है। यहां वाहन आसानी से मटेरियल लेकर आ जा सके इसके लिए नगर पालिका द्वारा लाखों रुपए खर्च कर बनाई गई फेंसिंग ठेकेदार द्वारा दोनों ओर से तोड़ दी गई है। जिसको लेकर खेल खेल प्रेमियों में भारी रोष है हाल ही में युवाओं द्वारा प्रादेशिक स्तर का टूर्नामेंट कराया गया जिसमें खिलाड़ियों को मिनी स्टेडियम के कक्ष पर ठेकेदार का कब्जा होने कारण निजी होटल में ठहराना पड़ा था।

सीएम राइज स्कूल भी करेगा कार्रवाई

सीएम राइज विद्यालय के प्रभारी प्राचार्य संदीप गणेश बताया कि मिनी स्टेडियम पर पूर्व के हाईस्कूल और वर्तमान के सीएम राइज स्कूल का आधिपत्य है। मिनी स्टेडियम निर्माण के लिए उक्त खेल मैदान की भूमि को खेल और युवा कल्याण विभाग को दी गई थी नगर पालिका  ग्राउंड का व्यवसायिक उपयोग नहीं कर सकती और यह खेल और युवा कल्याण एवं सीएम राइस के बीच भूमि को लेकर के हुए अनुबंध के विरुद्ध भी है इसको लेकर हम वरिष्ठ अधिकारियों को पत्र लिखकर कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here