सरोवर में ज्वारा विसर्जन के साथ हुआ हरतालिका तीज व्रत का समापन

0
377

मुलताई-गणेश चतुर्थी के दिन बड़ी संख्या में महिलाओं ने ताप्ती तक पहुंच कर ज्वारा विसर्जन कर अपने हरतालिका तीज व्रत का समापन किया। सुबह से ही अलग-अलग क्षेत्रों से महिलाएं ताप्ती तक पहुंची

जहां ताप्ती सरोवर एवं शनि सरोवर में 1 दिन पूर्व प्रतीक के रूप में बनाए गए भगवान शिव की पूजा अर्चना कर आपने व्रत का समापन किया एवं ज्वारो का विसर्जन किया। इस अवसर पर बड़ी संख्या में ताप्ती तट पर सुरक्षा व्यवस्था के इंतजाम किए गए थे। ताप्ती तट पर महिलाओं के स्नान के लिए अनेक स्थानों पर कनाथ लगाई गई थी।

व्रत पूजन के दौरान कोई दुर्घटना ना हो इसके लिए सरोवर एवं छोटे तालाब के किनारों पर सुरक्षा रस्सी लगाई गई थी, एवं नगरपालिका कर्मचारियों को तैनात किया गया था। नगर पालिका कर्मचारी गांव से घूम-घूम कर कोई दुर्घटना ना हो इसके लिए महिलाओं को समझाइश देते रहें।ताप्ती परिक्रमा क्षेत्र में इस बार पूर्व की अपेक्षा महिला पुलिस कर्मचारी एवं पुलिस व्यवस्था इस बार कम देखी गई ,बावजूद इसके कि इसके पूर्व, पर्व पर ऐसे भीड़ का लाभ लेकर चोर महिलाओं के आभूषण चोरी करते रहे हैं ।


महिलाएं परिवार के सुख समृद्धि के लिए रखती है व्रत

हरियाली तीज के बाद अब गजानन गणेश घर-घर विराजेगे जिसकी सभी तैयारियां पूर्ण हो गई है ।पंडित वासु जोशी इस व्रत के संबंध में जानकारी देते हुए बताते हैं कि यह निर्जला व्रत माता पार्वती ने शिव के लिए किया था,उन्होंने कठिन व्रत कर भगवान शिव को प्रसन्न में किया था और भगवान शिव को अपने वर के रूप में मांगा था। यही कारण है कि महिलाएं इस दिन व्रत रखकर अपने पति एवं परिवार की सुख समृद्धि की कामना करती है और युवतिया योग्य वर पाने के लिए यह व्रत रखती है। व्रत समाप्ति के बाद पार्वती नंदन गणराज घर लाए जाते हैं जो आज घर-घर विराजेगे।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here